स्वाति मालीवाल मारपीट मामले में दिल्ली पुलिस ने दर्ज किया केस

स्वाति मालीवाल मारपीट मामले में दिल्ली पुलिस ने FIR दर्ज की है. FIR में विभव के नाम का भी जिक्र है. स्वाति मालीवाल को लेकर दिल्ली पुलिस की टीम मेडिकल के लिए एम्स पहुंची है. स्वाति मालीवाल ने अपनी शिकायत में केजरीवाल पर सीधे कोई आरोप नहीं लगाया है.

स्वाति मालीवाल ने बयान में कहा है कि CM केजरीवाल घर में मौजूद थे. मैं ड्रॉइंग रुम तक गयी और वहां इंतजार कर रही थी. विभव आया और गालियां देने लगा. बिना उकसावे के थप्पड़ मारता रहा. मैनें शोर मचाया और कहा मुझे छोड़ दो जाने दो.

स्वाति मालीवाल ने कहा कि विभव लगातार मारता रहा और हिंदी में गंदी गालियां देता रहा. विभव ने मेरे छाती पर मारा, मेरे चेहरे पर मारा और पेट पर भी मारा. उसने मेरे शरीर के निचले हिस्से पर मारा. मैने कहा मैं पीरियड में हूं. मुझे छोड़ दो और मैं भाग कर बाहर आई. इसके बाद बाहर आ कर पुलिस को फोन किया.

दिल्ली पुलिस ने कहा कि स्वाति मालीवाल का बयान दर्ज किया गया है. स्वाति मालीवाल ने अपने बयानों में सोमवार 13 तारीख का पूरा घटनाक्रम बताया है. किन हालातों में उन्होंने पीसीआर कॉल की, उसके बारे में भी स्वाति मालीवाल ने पुलिस को बताया है .पुलिस ने स्वाति के बयानों के आधार पर कानूनी कार्यवाही शुरू की है. स्पेशल सेल के एडीशनल सीपी प्रमोद कुशवाह और एडीशनल DCP नार्थ अंजीता के सामने स्वाति मालीवाल ने बयान दर्ज करवाए हैं.

जानकारी के मुताबिक दिल्ली पुलिस को पीसीआर कॉल मिली थी और उसके बाद स्वाति खुद पुलिस स्टेशन पर गईं थीं और कहा था की बाद में शिकायत देंगी. इसी के आधार पर दिल्ली पुलिस के अधिकारियों के टीम उनके आवास पर पहुंची थी.

स्वाति मालीवाल ने एक्स पर पोस्ट कर कहा, “मेरे साथ जो हुआ वो बहुत बुरा था. मेरे साथ हुई घटना पर मैंने पुलिस को अपना स्टेटमेंट दिया है. मुझे आशा है कि उचित कार्यवाही होगी. पिछले दिन मेरे लिए बहुत कठिन रहे हैं. जिन लोगों ने प्रार्थना की उनका धन्यवाद करती हूं. जिन लोगों ने Character Assassination करने की कोशिश की, ये बोला की दूसरी पार्टी के इशारे पर कर रही है, भगवान उन्हें भी खुश रखे.

स्वाति मालीवाल की शिकायत ढाई पेज की है, जिसमें अरविंद केजरीवाल के पीए विभव का नाम है और किसके नाम है यह अभी साफ नहीं हुआ है. जानकारी के मुताबिक पुलिस आज रात में ही एफआईआर दर्ज करेगी.

एफआईआर दर्ज FIR दर्ज करने के बाद पुलिस क्राइम सीन पर जा सकती है. स्वाति मालीवाल ने 13 मई को 9 बजकर 34 मिनट पर सीएम हाउस से पीसीआर कॉल की थी. स्वाति मालीवाल के साथ सीएम हाउस में वारदात हुई, लिहाजा 
पुलिस सीएम हाउस भी जा सकती है. मौका-ए वारदात का CCTV फुटेज भी पुलिस कब्जे में ले सकती है. 13 मई को सीएम हाउस पर मौजूद स्टाफ के बयान भी दर्ज किए जा सकते हैं. विभव को नोटिस देकर पूछताछ के लिए बुला 
जा सकता है.

उन्होंने एक्स पोस्ट में कहा, “देश में अहम चुनाव चल रहा है, स्वाति मालीवाल ज़रूरी नहीं है, देश के मुद्दे ज़रूरी हैं. BJP वालों से ख़ास गुज़ारिश है इस घटना पे राजनीति न करें.”

बता दें कि गुरुवार को राष्ट्रीय महिला आयोग द्वारा स्वाति मालीवाल से बदसलूकी मामले में अरविंद केजरीवाल के सहयोगी विभव कुमार को तलब भी किया गया है. आरोप है कि विभव कुमार ने मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आधिकारिक आवास पर कथित तौर पर स्वाति मालिवाल के साथ बदसलूकी की थी. 

मामले पर मंगलवार को आप नेता संजय सिंह ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित किया और कहा कि मालीवाल के साथ हुई घटना बेहद निंदनीय है.