कप्तान रोहित ने रचा इतिहास, इंग्लैंड को 434 रनों से हराया

राजकोट के निरंजन शाह स्टेडियम में भारत और इंग्लैंड की टीमों के बीच 5 मैचों की टेस्ट सीरीज का तीसरा मैच खेला गया। इस मैच में भारतीय टीम ने इंग्लैंड को 434 रनों से हराया। इस ऐतिहासिक जीत के साथ की टीम के कप्तान रोहित शर्मा ने एक बड़ा रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। उन्होंने भारतीय क्रिकेट के एक खास रिकॉर्ड में अपने हेड कोच राहुल द्रविड़ की बराबरी कर ली है। 

कप्तान रोहित का ऐतिहासिक कारनामा 

रोहित शर्मा की कप्तानी में टीम इंडिया ने राजकोट टेस्ट जीतकर सीरीज में 2-1 की बढ़त बना ली है। वहीं, बतौर कप्तान ये टेस्ट मैच रोहित शर्मा की 8वीं जीत है। इसी के साथ वह भारत के लिए सबसे ज्यादा टेस्ट मैच जीतने वाले कप्तानों की लिस्ट में राहुल द्रविड़ के बराबर पहुंच गए हैं। द्रविड़ के नाम 25 टेस्ट में 8 जीत दर्ज करने का रिकॉर्ड है। वहीं, इस लिस्ट में टॉप पर विराट कोहली हैं। उनकी कप्तानी में टीम इंडिया ने 40 टेस्ट जीते थे। 

भारत के लिए सबसे ज्यादा टेस्ट जीतने वाले कप्तान 

विराट कोहली               40 जीत

एमएस धोनी                 27 जीत
सौरव गांगुली                21 जीत
मोहम्मद अजहरुद्दीन     14 जीत
सुनील गावस्कर             9 जीत

राजकोट में टीम इंडिया की सबसे बड़ी जीत 

राजकोट टेस्ट मैच की पहली पारी में टीम इंडिया ने 445 रन बनाए थे। इसके बाद इंग्लैंड की टीम ने अपनी पहली पारी में काफी शानदार शुरुआत की थी, लेकिन वह 319 रन ही बना सकी और ऑल आउट हो गई। वहीं, टीम इंडिया ने अपनी दूसरी पारी 430 रन बनाकर घोषित कर दी और इंग्लैंड को 557 रनों का टारगेट दिया। जिसके जवाब में इंग्लैंड की टीम सिर्फ 122 रनों पर ऑलआउट हो गई। इस तरह से भारत ने मैच 434 रनों से जीत लिया। भारत की टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में रनों के मामले में ये सबसे बड़ी जीत है। इससे पहले साल 2021 में भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ 372 रनों से मैच जीता था, जो टीम इंडिया की सबसे बड़ी जीत थी।