‘सुन्नी इत्तेहाद काउंसिल’ पाकिस्तान में हुए आम चुनाव में जीत हासिल करने वाले इमरान खान की पार्टी पीटीआई

इमरान खान की पार्टी पीटीआई सीधे तौर पर पाकिस्तान चुनाव में शामिल नहीं हुई थी क्योंकि पीटीआई के चुनाव चिन्ह बैट को चुनाव आयोग ने छीन लिया था। ऐसे में पीटीआई उम्मीदवार निर्दलीय के तौर पर चुनाव में उतरे थे।

पाकिस्तान में हुए आम चुनाव में जीत हासिल करने वाले इमरान खान की पार्टी पीटीआई द्वारा समर्थित उम्मीदवार कट्टरपंथी ‘सुन्नी इत्तेहाद काउंसिल’ में शामिल हो गए हैं। पीटीआई समर्थित सभी उम्मीदवार बुधवार को पाकिस्तान चुनाव आयोग में हलफनामा दाखिल कर आधिकारिक रूप से सुन्नी इत्तेहाद काउंसिल में शामिल हो गए। पीटीआई पार्टी और सुन्नी इत्तेहाद काउंसिल के बीच सोमवार को निर्दलीय उम्मीदवारों को शामिल करने को लेकर औपचारिक समझौता हुआ था।

क्यों सुन्नी इत्तेहाद काउंसिल में शामिल हुए पीटीआई समर्थक उम्मीदवार
पाकिस्तान के कानून के अनुसार, चुनाव में जीत दर्ज करने वाले निर्दलीय उम्मीदवारों को परिणामों की अधिसूचना जारी होने के तीन दिनों के भीतर किसी पार्टी में शामिल होना जरूरी है। यही वजह है कि पीटीआई समर्थित उम्मीदवारों ने विचार-विमर्श के बाद सुन्नी इत्तेहाद काउंसिल में शामिल होने का फैसला किया। इमरान खान की पार्टी पीटीआई सीधे तौर पर पाकिस्तान चुनाव में शामिल नहीं हुई थी क्योंकि पीटीआई के चुनाव चिन्ह बैट को चुनाव आयोग ने छीन लिया था। ऐसे में पीटीआई उम्मीदवार निर्दलीय के तौर पर चुनाव में उतरे थे।