ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी की हेलीकॉप्टर क्रैश में मौत

ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी की हेलीकॉप्टर क्रैश में मौत हो गई है. इसकी घोषणा ईरान की सेमी-ऑफिशियल न्यूज एजेंसी मेहर ने की है. न्यूज एजेंसी मेहर ने कहा कि राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी का हेलिकॉप्टर क्रैश में निधन हो गया है. हालांकि ईरान की सरकार ने अब तक इसकी पुष्टि नहीं की है. वहीं  रेड क्रिसेंट ने कहा कि हादसे में किसी के बचे होने की संभावना नहीं है.

अजरबैजान की पहाड़ियों पर मिली थी जलती हुई चीज

कुछ देर पहले ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी की हेलीकॉप्टर मिला था. हेलिकॉप्टर के मलबे तक ईरानी की एजेंसी रेड क्रिसेंट की रेस्क्यू टीम पहुंची, जहां टीम सर्चिंग में लगी हुई है. दरअसल, तुर्की के सर्चिंग ड्रोन को अजरबैजान की पहाड़ियों पर एक जलती हुई चीज मिली थी. जिसके बाद वहां सर्चिंग टीम भेजी गई थी.

ईरान के रेड क्रिसेंट प्रमुख का कहना है कि स्थिति ‘अच्छी नहीं है. राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी और विदेश मंत्री हुसैन अमीर-अब्दुल्लाहियन का हेलीकॉप्टर पूर्वी अजरबैजान के पश्चिमी प्रांत के जोफा क्षेत्र के पहाड़ों में दुर्घटनाग्रस्त हुआ है.

बांध परियोजना का उद्घाटन करने गए थे ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी

दरअसल, 63 वर्षीय ईरानी राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी पूर्वी अजरबैजान के दौरे पर थे. जहां उन्होंने अजरबैजान के राष्ट्रपति इल्हाम अलियेव के साथ दोनों देशों की सीमा पर बने एक बांध परियोजना का उद्घाटन किया था.  

ईरान के सर्वोच्च नेता सैय्यद अली खामेनेई ने नागरिकों से ‘चिंता नहीं करने’ के लिए कहा है. समाचार एजेंसी AFP के हवाले से रेड क्रिसेंट के प्रमुख पिरहोसेन कुलिवंद ने कहा, ‘हेलीकॉप्टर मिल गया है. हेलीकॉप्टर की ओर बढ़ रहे हैं. स्थिति अच्छी नहीं है.’

इधर, ईरान के राष्ट्रपति इब्राहिम रईसी के हेलीकॉप्टर क्रैश की सूचना आने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत दुनियाभर के नेताओं ने इब्राहिम रईसी की सलामती को लेकर चिंता जताई.

अजरबैजान के दौरे पर थे इब्राहिम रईसी

ईरान के स्टेट मीडिया IRNA के मुताबिक, रईसी 19 मई की सुबह अजरबैजान के राष्ट्रपति इल्हाम अलीयेव के साथ एक बांध का उद्घाटन करने गए थे. लौटने के दौरान अजरबैजान की सीमा के करीब ईरान के वरजेघन शहर में ये हादसा हो गया. दरअसल, हेलिकॉप्टर रविवार, 20 मई की शाम 7.30 बजे अजरबैजान के पास लापता हो गया था. रात भर इसकी तलाश की गई, लेकिन इलाके में भारी बारिश, कोहरा और ठंड की वजह से सर्च ऑपरेशन में काफी दिक्कतें आईं.